Categories
Foreign Policy Political Parties War and Conflict

Foreign Policy under China’s New Leaders: What India can Expect

(original version in English follows below Hindi text)

चीन में नेतृत्व परिवर्तन की एक बड़ी कवायद पूरी हो चुकी है। कुछ दिनों पहले 18वीं नेशनल कांग्रेस में शी जिनपिंग को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का महासचिव बना दिया गया। अब तक यह कमान हू जिंताओ की पास थी। शी ने सेंट्र्ल मिलिट्री कमीशन (सीएमसी) के चेयरमैन का भी पद संभाल लिया है। यह एक अहम पद है और इसके जरिये वह चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के प्रभारी हो गए हैं। इसके साथ ही शी तीसरे अहम पद के तौर पर मार्च, 2013 में राष्ट्रपति का भी पद संभाल लेंगे।

अब सवाल यह है कि नए नेतृत्व के तहत चीन की विदेश नीति कैसी होगी?